Press "Enter" to skip to content

14 पर केस, गांव में तनाव की स्थिति को देखते हुए पुलिस भी तैनात


नूंह जिले के रिठठ गांव में एक व्यक्ति को जबरन धर्म परिवर्तन के लिए उकसाने व दबाव बनाने का मामला सामने आया है। पिनगवां थाना पुलिस ने पीड़ित पक्ष की शिकायत पर जिला पार्षद मुमताज समेत 14 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। वहीं गांव में तनाव की स्थिति को देखते हुए पुलिस भी तैनात की गई है।

जानकारी के अनुसार रिठठ गांव के पप्पू पुत्र रामचंद्र ने पिनगवां पुलिस को शिकायत दी शिकायत में बताया है कि उसके गांव के जिला पार्षद मुमताज सहित कई लोग उसे धर्म परिवर्तन के लिए उकसा रहे हैं। उसके साथ मारपीट भी की गई है और धर्म परिवर्तन नहीं करने पर जान से मारने की धमकी भी दी जा रही है। पुलिस ने शिकायत मिलते ही मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जब इस बारे में पिनगवां थाना एसएचओ चंद्रभान से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि पप्पू निवासी रिठठ ने उन्हें शिकायत दी है।

पुलिस ने शुरुआती जांच में पाया कि जो व्यक्ति आरोप लगा रहा है वह गत एक अगस्त को ईद उल अजहा के अवसर पर दो पक्षों में हुए झगड़े में घायल हुआ था, लेकिन जो आरोप उसने लगाए हैं उनकी जांच की जा रही है। थाना प्रभारी ने बताया कि मारपीट, धर्म परिवर्तन के लिए उकसाने, जान से मारने की धमकी आदि धाराओं के तहत जिला पार्षद मुमताज सहित 14 लोगों को नामजद किया गया है। मामले में जांच की जा रही है। अगर पीड़ित पक्ष द्वारा लगाए गए आरोपों में सच्चाई नजर आती है तो नामजद लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

परिवार की सुरक्षा के लिए पुलिस तैनात, आरोपियों की तलाश शुरू

नूंह जिला के गांव रिठठ निवासी पप्पू ने एक पार्षद समेत 14 लोगों के खिलाफ धर्म परिवर्तन के लिए उकसाने को लेकर मुकदमा दर्ज करने के बाद गांव में पुलिस तैनात की गई है। पुलिस का कहना है कि गांव में शांति है। वैसे अभी तक कोई तनाव नजर नहीं आया है। आरोपियों की तलाश शुरू कर दी गई है। गांव में जब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होगी, पुलिस गांव में तैनात रहेगी।

दबंग प्रवृत्ति के लोग उनके साथ मारपीट करते हैं
जब पीड़ित पक्ष के लोगों से मीडियाकर्मियों ने बात की तो उन्होंने आरोप लगाए कि गांव के दबंग प्रवृत्ति के लोग उनके साथ मारपीट करते हैं। धर्म परिवर्तन करने के लिए दबाव डालते हैं, साथ ही मारपीट भी उनके साथ की जाती है। पुलिस ने मुकदमा तो दर्ज कर लिया है। अब आगामी कार्रवाई का इंतजार है। जिले में यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी इलाके में इस प्रकार के मामले सामने आए हैं।

क्या कहते हैं आरोपी पार्षद

मुमताज अली जिला पार्षद वार्ड नंबर 11 ने कहा कि उनके खिलाफ गांव के लोगों ने राजनीतिक द्वेष भावना से मुकदमा दर्ज कराया गया है। मुकदमे में कोई सच्चाई नहीं है । उन्होंने कहा कि वह पूर्व सरपंच रह चुके हैं । उनके पिता व भाई भी रिठठ गांव के सरपंच रहे हैं । लिहाजा वह गांव की 36 बिरादरी के लोगों से एक समान व्यवहार करते हैं।

Download Dainik Bhaskar App to be taught Most standard Hindi Info This day

Case on 14, police also deployed in peep of annoying roar in the village

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *