Press "Enter" to skip to content

82% भारतीय स्टूडेंट्स मानते हैं कोरोना के बाद देश-दुनिया में नई नौकरियां पैदा होंगी, सर्वे -डिजिटल लर्निंग कंपनी ने 7,000 से अधिक स्टूडेंट्स की जानी राय


करीब 82 फीसदी भारतीय स्टूडेंट्स मानते हैं कि कोरोना महामारी के परिणामस्वरूप देश-दुनिया में नई नौकरियों और स्किल वाले लोगों की जरूरत बढ़ेगी। वहीं, 77 फीसदी स्टूडेंट्स का कहना है कि उनका करियर किस दिशा में आगे बढ़े महामारी ने इस पर सोचने पर मजबूर किया है। वे इस पर मंथन कर रहे हैं। यह तथ्य बुधवार को जारी एक सर्वे के निष्कर्ष में सामने आए हैं। डिजिटल लर्निंग कंपनी पीयर्सन ने इस सर्वे में भारत में 7,000 से अधिक स्टूडेंट्स की राय जानी। इसमें 88 फीसदी स्टूडेंट्स ने कहा कि आने वाले समय में ऑनलाइन लर्निंग प्राइमरी, सेकंडरी और हायर एजुकेशन का एक स्थायी हिस्सा बन जाएगा।

71% स्टूडेंट्स पढ़ाई फिर शुरू होने के पक्ष में

पीयर्सन के सीईओ ने जॉन फॉलन ने कहा, पढ़ाई के दौरान स्टूडेंट्स का नजरिया काफी लचीला होता है। भविष्य में क्या होगा यह कोई नहीं जानता है, लेकिन वे अपने करियर को सही दिशा में आगे बढ़ाने के लिए नए रास्ते पर चलने को तैयार हैं। सर्वे के मुताबिक 71% स्टूडेंट्स मानते हैं कि एक सेहतमंद अर्थव्यवस्था और मुक्त समाज के लिए कॉलेज और विश्वविद्यालयों का फिर से खुलना जरूरी है। वहीं, देश के 75% लोगों का मानना है कि कोरोनाकाल में कॉलेज और यूनिवर्सिटी शुरू करना स्टूडेंट्स की जान के लिए जोखिमभरा हो सकता है।

Bag Dainik Bhaskar App to be taught Most stylish Hindi Knowledge On the present time

82% Indian students factor in that after Corona, unusual jobs will be created within the nation and the sphere, seek for-digital learning firm conception of extra than 7,000 students

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *