Press "Enter" to skip to content

जिले में 39.6 एमएम बारिश, हाईवे व सड़कें बनीं तालाब, दिनभर जाम में जूझते रहे वाहन चालक


बुधवार देर रात से हो रही बारिश के कारण लोगों को जहां उमस से थोड़ी राहत जरूर मिली, वहीं मुसीबत भी बढ़ गई। जलभराव के कारण निचले क्षेत्रों में रहने वालों का घर से निकलना मुश्किल हो गया। जिले में हुई 39.6 मिली मीटर बारिश से नेशनल हाईवे से लेकर शहर की सभी प्रमुख सड़कें तालाब बन गईं। जलभराव के कारण जाम की स्थिति रही।

रेलवे अंडरपास डूब रहे। यहां तक कि मंडी से लेकर सरकारी दफ्तरों तक दिनभर पानी जमा रहा। ऐसे में लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। रही सही कसर निगम की लापरवाही ने पूरी कर दी। कई स्थानों पर डिस्पोजल नहीं चलने से पानी की निकासी नहीं हो पाई। सबसे अधिक परेशानी एनआईटी और बडख़ल क्षेत्र में रहने वालों को हुई। एनआईटी की कई कॉलोनियों में लोगों के घरों के अंदर पानी घुस गया । हैरानी की बात यह है कि लोग निगम अधिकारियों को फोन करते रहे लेकिन उन्होंने जवाब ही नहीं दिया।

धीमी गति से लगातार हो रही बारिश के कारण नेशनल हाईवे पर मैगपाई के सामने, अजरौंदा चौक, सीही मेट्रो स्टेशन के पास, बल्लभगढ़ फ्लाईओवर के पास एसबीआई बैंक शाखा के सामने सेक्टर 55 जेसीबी चौक के सामने, झाड़सेंतली कैलगांव फ्लाईओवर के पास सीकरी, एनएचपीसी अंडरपास, ओल्ड फरीदाबाद रेलवे स्टेशन अंडरपास, सर्किट हाउस रोड, नेहरू कॉलेज, लक्ष्मीनारायण मंदिर सेक्टर 16ए, सेक्टर-15 ए राधास्वामी रोड, साई धाम रोड सेक्टर 16, सेक्टर 28-29 रोड, सेक्टर 11-12 डिवाइडिंग रोड, रेलवे रोड के अलावा बल्लभगढ़ सब्जी मंडी, ई दिशा केंद्र, रोडवेज डिपो, बल्लभगढ़ मेट्रो स्टेशन से सोहना चौक तक, एनआईटी स्थित पर्वतीया कॉलोनी, जवाहर कॉलोनी, कपड़ा कॉलोनी, डबुआ कॉलोनी में दिनभर जलभराव रहा।

सड़कों पर दो से तीन फुट तक के गड्‌ढे

बारिश के कारण केवल जलभराव से ही लोग परेशान नहीं हुए बल्कि शहर की प्रमुख सड़कें भी गड्ढों में तब्दील हो गई हैं। बारिश से पहले निगम अधिकारियों ने सडक़ों के गड्ढों को भराने का काम नहीं किया। अब यहां दो से तीन फुट तक गड्ढे बन चुके हैं। प्लायी चौक से हार्डवेयर चौक रोड, सेक्टर 24 औद्योगिक क्षेत्र की सड़क, मुजेसर रोड औद्योगिक क्षेत्र, ओल्ड फरीदाबाद बाइपास रोड, सेक्टर 12-15 डिवाइडिंग रोड, सेक्टर 11-12 डिवाइडिंग रोड, अजरौंदा फ्लाईओवर समेत अन्य सडक़ों पर इस कदर गड्ढे हैं कि यहां से निकलना मुश्किल हो रहा है।

हाईवे पर जलभराव के लिए निगम का कोई रोल नहीं

निगम के एसई बीके कर्दम का कहना है कि लगातार हो रही बारिश के कारण जलभराव की स्थिति बनी हुई थी लेकिन डिस्पोजल चलवाकर पानी निकलवाया गया। हाईवे पर जलभराव के लिए निगम का कोई रोल नहीं है। बारिश में थोड़ा बहुत पानी जमा होना स्वाभाविक है। बारिश खत्म होने के बाद गड्ढे भरा दिए जाएंगे।

न्यू जनता कॉलोनी निवासी रमेश, प्रकाश, अरूण, दिनेश आदि के अनुसार बारिश के कारण पूरी कॉलोनी में दो से तीन फुट तक पानी हर गली में जमा हो गया। क्योंकि नगर निगम अधिकारियों की लापरवाही से कॉलोनी में लगा डिस्पोजल बंद पड़ा है। इस बारे में निगम के जेई, एसडीओ और एक्सईएन तक फोन कर समस्या बताने का प्रयास किया गया लेकिन किसी ने फोन रिसीव नहीं किया। लोगों का कहना है कि जनता कॉलोनी के डिस्पोजल पर एक ही मोटर लगी हुई है, जो 10 मिनट बाद बंद हो जाती है। आरोप है कि बारिश से पहले नालों की सफाई न होने से शहर में जलभराव की स्थिति पैदा हुई है।

Download Dainik Bhaskar App to learn Most modern Hindi News At present time

बारिश के कारण हाईवे तालाब बन गया। जिससे वाहन चालकों को दिक्कत हुई।

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *