Press "Enter" to skip to content

सरकारी स्कूलों में संक्रमण फैलने से रोकने लिए अलग-अलग बनाए जाएंगे एन्ट्री और एग्जिट गेट


पिछले पांच महीने से बंद पड़े सरकारी स्कूलों को खोलने के लिए अब तैयारी चल रही है। लेकिन कोविड-19 के अंतर्गत बच्चों की सुरक्षा को देखते हुए सरकारी स्कूलों में एंट्री और एग्जिट के लिए दो अलग अलग गेट बनाए जाएंगे। शिक्षा निदेशालय ने प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को आदेश दिए हैं कि वो पहली से 12वीं कक्षा के सभी सरकारी स्कूलों में दो गेट होने अनिवार्य हैं। प्रदेश के कई स्कूलों में दो गेट हैं, लेकिन कुछ स्कूल ऐसे भी हैं जहां पर एक ही गेट से एंट्री और एग्जिट छात्रों के लिए है। शिक्षा निदेशालय ने छात्राओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया है। जल्द ही स्कूल खुलने की उम्मीद जताई जा रही है। ऐसे में छात्रों की निकासी हेतु एक अन्य छोटे गेट का निर्माण भी करवाया जाना है।

निदेशालय ने निकासी गेट के निर्माण कार्य को मद्देनजर रखते हुए अधिकारियों को कहा है कि ऐसे सभी स्कूलों की सूची उपलब्ध करवाई जाए। जिन स्कूलों के मुख्य द्वार के अतिरिक्त छात्रों की निकासी हेतु गेट की व्यवस्था नहीं है। 17 अगस्त तक यह रिपोर्ट सभी जिलों से दी जाएगी। इसके साथ ही सभी स्कूलों के नक्शे को देखते हुए निर्माण भी करवाया जाएगा। जिला परियोजना संयोजक रितु चौधरी ने बताया कि कोविड-19 को देखते हुए जब भी स्कूल खुलेंगे तो बच्चों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग रहना बहुत अनिवार्य है। ऐसे में प्रत्येक स्कूल में दो गेट हो यह सुनिश्चित किया जाएगा।

Download Dainik Bhaskar App to be taught Most modern Hindi News This day

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *