Press "Enter" to skip to content

24 घंटे में 158 एमएम बारिश, झुग्गी पर दीवार गिरी, 1 की मौत, जलभराव से पांच मंजिला इमारत झुकी, प्रशासन तोड़ने में जुटा


गुड़गांव में मूसलाधार बारिश ने प्रशासन की पोल खोल दी है। जहां इस बारिश के बाद शहर के कई इलाकों में जलभराव की स्थिति बनी रही। वहीं गुरुवार शाम तक भी गोल्फ कोर्स रोड के अंडरपास में भरे पानी को दमकल विभाग की गाड़ियां व कर्मचारी साफ नहीं कर सके, जिससे दूसरे दिन भी अंडरपास ट्रैफिक के लिए नहीं खोला जा सका।

वहीं गुरुवार अलसुबह 3.30 बजे से शुरू हुई बारिश दोपहर 12 बजे तक जारी रही। शहरी क्षेत्र में गुरुवार को 60 एमएम बारिश दर्ज की गई, जिससे पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 158 एमएम बारिश हो गई। वहीं इस बारिश से निचले इलाकों में जलभराव की बड़ी समस्या खड़ी हो गई। इसके अलावा बारिश के कारण हुए जलभराव से सेक्टर-46 की एक पांच मंजिला इमारत झुक गई, ऐसे में खतरे को देखते पहले आसपास के इलाकों को खाली करवाया गया और बाद में इसे जिला प्रशासन के आदेश पर तोड़ने की कार्रवाई शुरू कर दी गई।

दौलताबाद में पानी में फंसे परिवार को रेस्क्यू कर निकाला

दौलताबाद गांव में बाढ़ जैसे हालात बनने पर एक परिवार फंस गया। सिविल डिफेंस की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर इस परिवार को सकुशल निकाल लिया। फिलहाल, परिवार को दौलताबाद गौशाला में रखा गया है। उनके रहने की व्यवस्था होने तक गौशाला संचालकों ने उन्हें गौशाला में ही रखने की दरियादिली दिखाई। सिविल डिफेंस की टीम डिवीजन वार्डन सुनील सैनी, निखिल अरोड़ा, आशीष, प्रदीप, राहुल, नितिन, निखिल अरोड़ा मौके पर पहुंचे। जहां परिवार रह रहा था। वहां करीब 3 से 5 फुट पानी भरा हुआ था। सिविल डिफेंस की टीम ने 20 लीटर की पानी की प्लास्टिक की बोतलों पर बांस की पट्टियां बांधकर नाव तैयार की। उस नाव पर इस परिवार के लोगों को बैठा कर पानी से बाहर लाया गया।

अंडरपास दूसरे दिन भी नहीं हो सके खाली

बुधवार को हुई बारिश के बाद गोल्फ कोर्स रोड के अंडरपास व राजीव चौक स्थित अंडरपास पानी से भर गए थे। जिन्हें खाली करने के लिए गुरुवार को पूरे दिन फायर विभाग की टीमें लगी रही, लेकिन दिनभर की मशक्कत के बाद भी लगातार बारिश होने से अंडरपास खाली नहीं हो सके। अंडरपास में गुरुवार शाम तक भी दो से तीन फुट तक पानी व गाद भरी रही। अंडरपास में फंसी कई गाड़ियों को भी जेसीबी व हाइड्रा की मदद से निकाला गया। वहीं जिन अंडरपास में पानी भरा था, वे गुरुवार को भी बंद रखने पड़े।

झुग्गी पर दीवार गिरने से दम्पति दबे, पति की मौत, पत्नी गंभीर

गुरुवार की सुबह सेक्टर-33 में बारिश के दौरान झुग्गियों पर दीवार गिरने से दंपती दब गए। हादसे के बाद दोनों को अस्पताल ले जाया गया, जहां युवक की मौत हो गई, जबकि महिला की हालत गंभीर बताई जा रही है। सदर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर दिनेश ने बताया कि मृतक के परिजन ने कोई कार्रवाई करने से इनकार किया है। मूसलाधार बारिश के बाद सेक्टर-33 स्थित एक प्लॉट की दीवार के पास पानी भर गया था। प्लॉट चारदीवारी के पास ही 8-10 झुग्गियां बनी हुई है। इसमें पश्चिम बंगाल निवासी सुजाउद्दीन (35) अपनी पत्नी जुनैना (33) के साथ रहता था। गुरुवार अलसुबह वह अपनी पत्नी कर साथ सोया हुआ था उसी वक्त झुग्गी पर दीवार गिर गई। झुग्गी में सो रहे दंपती मलबे के नीचे दब गए। आसपास के झुग्गियों में रहने वाले लोगों की मदद से दोनों को अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टर ने सुजाउद्दीन को मृत घोषित कर दिया।

निर्माणाधीन बिल्डिंग पहले हाइड्रा लगाकर रोकी, बाद में तोड़ी
गुड़गांव के सेक्टर-50 थाने के इंस्पेक्टर सुरेंद्र सिंह ने बताया कि सेक्टर-46 में मकान नंबर 1947 निर्माणाधीन है। उसमें फिनिशिंग का काम चल रहा है। यह पांच मंजिला है। बरसात में जलभराव की वजह से इमारत टेढ़ी हो गई है। इमारत के सामने व एक साइड में सड़क है, इसके पीछे व एक साइड में मकान बने हुए हैं। पुलिस ने आसपास के मकानों को खाली करवा दिया है। रास्ता भी बंद करवा दिया है। इमारत के गिरने का खतरा है। एचएसवीपी के एसडीओ डिजास्टर मैनेजमेन्ट की टीम, एनसीबी की टीम सहित संबंधित विभाग की टीमें मौके पर है। जिसे शाम को तोड़ने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। वहीं थाना प्रभारी सुरेन्द्र ने बताया कि अभी तक मकान मालिक के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

Fetch Dainik Bhaskar App to be taught Newest Hindi Files At the present time

158 mm rain in 24 hours, slum wall collapses, 1 killed, waterlogged 5-storey building tilted, administration engaged in breaking

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *