Press "Enter" to skip to content

9 साल की बच्ची को लेकर दिल्ली से ट्रेन के टॉयलेट में ले घुसा युवक, दो बार किया दुष्कर्म; मंडी गोबिंदगढ़ स्टेशन पर पकड़ा गया


फतेहगढ़ साहिब जिले के मंडी गोबिंदगढ़ रेलवे स्टेशन से एक युवक को बच्ची के साथ दुष्कर्म के मामले में गिरफ्तार किया गया है। पता चला है कि वह 9 साल की बच्ची को लेकर दिल्ली से बिना टिकट ही रेलगाड़ी में सवार हुआ था। गाड़ी के टॉयलेट में उसने बच्ची के साथ दो बार गलत काम किया। इसके बाद बच्ची की हालत बिगड़ी तो वह उसे लेकर यहां उतर गया। बच्ची के रोने की वजह से शक होने पर रेलवे पुलिस ने आरोपी को धरदबोचा। मेडिकल चेकअप में बच्ची के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। फिलहाल उससे पूछताछ की जा रही है।

आरोपी की पहचान उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले के गांव बस्ती नवाबपुर निवासी सुशील सोनू (25) के रूप में हुई है। जानकारी के अनुसार बच्ची दिल्ली में अपनी बहन के पास रहती है। 20 अगस्त की सुबह रास्ता भटककर पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर पहुंच गई। वहां सुशील सोनू ने उसे बहला-फुसलाकर पास में खड़ी जयनगर से अमृतसर के बीच चलने वाली शहीद एक्सप्रेस ट्रेन में ले गया। इसके बाद ट्रेन के टॉयलेट में अंदर ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। इसी बीच ट्रेन चल पड़ी।

बताया जाता है कि गलत हरकत के बाद वह बच्ची को लेकर ट्रेन में ही बैठा रहा। रास्ते में चलती ट्रेन में उसे फिर से टॉयलेट में ले गया और दोबारा दुष्कर्म किया। दर्द होने पर उसने बच्ची को ट्रेन में ऊपर वाली सीट पर सुला दिया। बच्ची के पेट में तेज दर्द होने लगा तो वह रोने लगी। पकड़े जाने के डर से वह बच्ची को लेकर मंडी गोबिंदगढ़ स्टेशन पर उतर गया। रोती हुई बच्ची के साथ बच्ची को देख गैंगमैन ने रेलवे पुलिस को सूचित कर दिया।

पूछताछ में पहले तो युवक खुद को बच्ची का रिश्तेदार बता रहा था, लेकिन बच्ची ने बताया कि वह रिश्तेदार नहीं है। वह उसे दिल्ली से लेकर आया है। दर्द के कारण बच्ची लगातार रो रही थी, इसलिए पुलिस उसे चाइल्ड केयर होम ले गई। वहां महिला डॉक्टर ने बच्ची का मेडिकल चेकअप किया। महिला डॉक्टर को बच्ची ने ट्रेन में उसके साथ दुष्कर्म की बात बताई। पुलिस ने फिलहाल जीरो एफआइआर दर्ज ही है। केस आगे की जांच के लिए पुरानी दिल्ली रेलवे पुलिस को सौंपा जाएगा। पुलिस का कहना है कि आरोपी युवक बच्ची को मंडी गोबिंदगढ़ से ही वापस दिल्ली ले जाने की फिराक में था, लेकिन पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

दूसरी ओर जिला बाल सुरक्षा अधिकारी एचएस महमी का कहना है कि बच्ची अभी सहमी हुई है। वह कभी दिल्ली तो कभी उत्तर प्रदेश की रहने वाली बता रही है। सही पता लगाने के लिए दिल्ली चाइल्ड केयर होम ग्रुप को भी फोटो भेजी है। कोविड-19 के कारण अभी बच्ची से ज्यादा पूछताछ नहीं की जा रही है। कोरोना की रिपोर्ट आने तक उसे आइसोलेशन वार्ड में रखा है।

Rep Dainik Bhaskar App to read Most modern Hindi Data On the present time

सिंबॉलिक इमेज।

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *