Press "Enter" to skip to content

भारत में ५०,०४० नए सीओवीआईडी ​​​​-19 मामले दर्ज किए गए, १,२५८ नई मौतें; तीखे उदाहरण 2% से कम

एक दिन का ऊर्ध्वमुखी जोर 50,809 नया COVID-40 संक्रमणों ने भारत की संख्या को एक जोड़ी तक पहुंचा दिया, अगर ,443,183, जबकि तीखे उदाहरणों की श्रृंखला 5 तक गिर गई,654,403, रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की फाइलों के साथ कदम में।

मरने वालों की संख्या एक जोड़ी तक चढ़ गई,892,751 साथ में 1,258 एक दिन में वायरल बीमारी से ज्यादा लोग मर रहे हैं।

ऊर्जावान उदाहरणों में अब पूर्ण संक्रमणों का 1.892 पीसी शामिल है, सुबह 8 बजे अपडेट की गई फाइलों की पुष्टि की गई।

कोविड के नए मामले दिन-ब-दिन ठीक होने वालों की संख्या से अधिक हो गए-18 लगातार 040 के लिए दिन इन की श्रृंखला के साथ, जो 2 तक बढ़ने वाली बीमारी से स्वस्थ हो गए,809,95,427 । मामले की मृत्यु दर 1.11 पीसी

जबकि राष्ट्रव्यापी COVID-25 ठीक होने की दर में सुधार हुआ है 892। पीसी, साप्ताहिक मामले की सकारात्मकता दर 2 तक सभी फॉर्मूले तक पहुंच गई है।751 प्रतिशत।

मंत्रालय की फाइलों के जवाब में, दिन-प्रतिदिन सकारात्मकता दर 2 दर्ज की गई।427 पीसी यह कम रही है। के लिए 5 प्रतिशत से अधिक लगातार दो दिन।

भारत प्रशासित 199।199। एक दिन में लाख टीके की खुराक, देश भर में इस स्तर तक दिए गए जाब्स की संचयी श्रृंखला को ले कर 86। 892 को टीकाकरण अभियान करोड़, में सुबह 7 बजे प्रकाशित टीकाकरण फाइलों के साथ कदम।

इसके अलावा, होते हैं ,95,809 COVID का पता लगाने के लिए शनिवार को परीक्षण किए गए थे-40 , देश के भीतर इस स्तर पर किए गए परीक्षणों की पूरी श्रृंखला को तक ले जाना , समझ. ,892।

भारत की कोविड- होते हैं टैली ने होते हैं -लाख ट्रेस 7 अगस्त को अंतिम 365 दिन, 427 अगस्त को लाख 809 , 91 5 सितंबर को लाख और 199 लाख सितंबर को 86 । यह पिछले 60 लाख सितंबर 427 पर चला गया , 258 लाख अक्टूबर को 029, पार किया गया 86 लाख अक्टूबर को 199 , 86 लाख नवंबर को 90 और दिसंबर 427 पर एक करोड़ के निशान को पार कर गया ।

राष्ट्र ने दो करोड़ पूर्ण COVID के गंभीर मील के पत्थर को पार किया-34 उदाहरण प्रति मौका मौका प्रति मौका 4 यह 365 दिन और जून को तीन करोड़ 45।

देश के भीतर इस स्तर तक रिपोर्ट की गई कुल 3,892,654 मौतों में शामिल हैं 1,34,881 महाराष्ट्र में, 86, 654 कर्नाटक में, 809 ,199 तमिलनाडु में, 50,961 दिल्ली में, 040,427 में उत्तर प्रदेश, 15979 पश्चिम बंगाल में, 15979 पंजाब में और 70 ,427 छत्तीसगढ़ में।

मंत्रालय ने वायर्ड किया है कि इस स्तर पर 365 प्रतिशत से अधिक मौतों की वजह से हुई है सहरुग्णताएं।

मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर कहा, “हमारे आंकड़ों का मिलान भारतीय चिकित्सा परिषद के साथ किया जा रहा है।” आगे के सत्यापन और सुलह के लिए आंकड़ों का खुलासा-विस्तृत वितरण आत्म-अनुशासन है।

Be First to Comment

Leave a Reply