Timesdelhi.com

January 18, 2019
Author

Pritam Gupta - page 1391

Pritam Gupta has 7040 articles published.

Cloud driver profiles mean any Tesla could automatically become your Tesla

in Automotive/Delhi/India/Politics/TC/Transportation by

Tesla has a plan to move its personalized driver profiles, which track things like seat and steering wheel position, to the cloud. This would mean Tesla drivers can download to them to theoretically any connected Tesla vehicle and have all their driver preferences in place, including regenerative braking, temperature units, map settings and more.

Tesla CEO and founder Elon Musk tweeted the news about server-stored profiles in response to a question from a Tesla owner, which actually wasn’t specifically asking about driver preferences that follow you across vehicles.

Musk noted that Tesla’s plan was to move “all info and settings” to cloud-based storage, so that “any Tesla you drive in the world automatically adjusts to you.” I remember when driver profiles specific to vehicles were introduced – it was like a revelation. Being able to have that same experience even when you’re popping into a rental car, a friend’s vehicle, or a Tesla connected to a future brand-wide opt-in ride sharing service would be amazing.

Tesla’s also setting the stage here for something that will likely become even more important to automakers in general in the future: A persistent, data-rich profile of a user that extends over time, much like a Google account. The auto industry seems bound to evolve to place more emphasis on shared services in place of traditional ownership, and that kind of customer relationship will be key as we move towards that.

Tesla is arguably already best-positioned to build those kinds of lifetime customer bonds, but features like cloud profiles could help deepen the connection, giving the carmaker an advantage that can’t be matched by technical innovation alone.

News Source = techcrunch.com

प्रियंका चोपड़ा के साथ बंद कमरे में तौलिया लपेटे शाहिद कर रहे थे ये काम तभी…

in Delhi/India/instant/News/Politics by

बॉलीवुड के स्तर शाहिद कपूर और प्रियंका चोपड़ा एक साथ कई फिल्मों में काम किया है कमीने, तेरी मेरी कहानी जैसी फिल्मों में काम किया है. इसी बीच खबर यह आई थी कि शैड और प्रियंका एक दूसरे से प्यार करते है. 25 जनवरी 2011 के CBI रेड के दौरान जब अधिकारियों ने सुबह के साढ़े सात बजे खटखटाया तो तौलिया लपेटे शाहिद कपूर बाहर निकले थे. ये पहली बार नहीं था काफी बार शाहिद कपूर को प्रियंका चोपड़ा के घर के अन्दर जाते हुए देखा गया है. एक इंटरव्यू में प्रियंका ने कहा कि “शाहिद को अपने घर कॉफी के लिए इनवाइट किया था”.

Source

शाहिद कपूर और प्रियंका चोपड़ा पहली बार फिल्म कमीने के दौरान मिले थे. इस फिल्म के निर्देशक विशाल भारद्वाज थे. कमीने फिल्म करने के थोड़े समय पहले ही शाहिद कपूर का करीना कपूर से ब्रेकअप हुआ था. ऐसे में ये खबरें आने लगी थी कि प्रियंका और शाहिद जल्द शादी करने वाले है.

Related image
Source

सूत्रों का कहना है कि गोवा में शाहिद और प्रियंका ने सगाई भी कर ली थी और जल्द ही शादी भी करने वाले थे, लेकिन प्रियंका अपनी उप्कोमिंग फिल्म अंजना-अंजानी में बिजी होने के चलते यह शादी नहीं हो पाई थी. अंजना-अंजानी फिल्म की शूटिंग दौरान एक्टर रणबीर कपूर के साथ प्रियंका काफी नजदीकियां बढ़ने लगी जिसके चलते शाहिद और उनका ब्रेकअप हो गया था.

Image result for priyanka and shahid breakup
Source

कहा जाता है कि शाहिद ने प्रियंका को रणबीर के साथ फिल्में करने से मना किया था लेकिन उन्होंने उनकी बात को अनसुना करते हुए अंजाना-अंजानी में काम किया. शाहिद को प्रियंका की ये बात दिल पर लग गई और उन्होंने उनसे अपना रिश्ता तोड़ना ही बेहतर समझा.

 

 

 

 

The post प्रियंका चोपड़ा के साथ बंद कमरे में तौलिया लपेटे शाहिद कर रहे थे ये काम तभी… appeared first on Chaska Times.

News Courtesy - Chaskatimes.com

3 हजार सालों से नाले में छिपी थी ये बेशकीमती चीज, देखते ही हैरान हुए लोग…देखें Video

in Delhi/dharm/India/instant/interesting/News/Politics/Video by

हमारे देश में जगह-जगह खोज अभियान चलते रहते है।क्योंकि कहा जाता है पहले हमारा देश सोने की चिड़िया था.पहले से हमारे भारत देश में राजाओं का शासन रहा है।जिसके कारण पहले सबसे धनवान देश था।17 शताब्दी के दौरान कहा जाता है यहां अनाज,कपड़ा गहना,हथियार मोती,मसाले आदि किसी भी चीज की कमी नही थी। पहले समय के लोग सोने तथा चांदी के सिक्कों का उपयोग करत थे। लेकिन जब हमारे देश को अग्रेजों ने घेर कर गुलाम बना लिया था।

17 शताब्दी के दौरान कहा जाता है यहां अनाज,कपड़ा गहना,हथियार मोती,मसाले आदि किसी भी चीज की कमी नही थी। पहले समय के लोग सोने तथा चांदी के सिक्कों का उपयोग करत थे।

लेकिन 1947 में उनसे आजादी मिलने के बाद सभी तरह के राजा महाराजाओं वाले शासन खत्म हो गए। कहा जाता है अग्रेज जब हमारे देश को छोड़ कर गये थे वह भारत की सारी कीमती चीजों को लुटकर गये थे। उस दौरान हमारा देश पूरी तरह से कंगाल हो गया था।

जिसके कारण वहां के लोग के लोग पिछले 4 साल से नाले की खुदाई करने में लगे हुए थे। लेकिन नाले में मिली एक रहस्यमयी चीज जिसको सुनकर आप भी चौंक उठेगें।

लेकिन बताया जा रहें है एक ऐसी ही कीमतों चीजों के बारें में जो कि आए दिन कही न कही खुदाई में निकलती रहती है। हम जो बात कर रहें है वह इजिप्ट में स्थित कैरो राजधानी का है। जिसमे बताया जा रहा है एक नाले की खुदाई के दौरान एक ऐसी चमकीली चीज निकली है जिसे देखकर वहां के लोग हैरान हो गये है। कहा जाता है वहां के आर्कियोलॉजिस्ट को ऐसा महसूस होता था कि वहा गहरे नाले में कुछ रहस्यमयी चीज मौजूद है।

 

एक ऐसी ही कीमतों चीजों के बारें में जो कि आए दिन कही न कही खुदाई में निकलती रहती है। हम जो बात कर रहें है वह इजिप्ट में स्थित कैरो राजधानी का है। जिसमे बताया जा रहा है एक नाले की खुदाई के दौरान एक ऐसी चमकीली चीज निकली है

जिसके कारण वहां के लोग के लोग पिछले 4 साल से नाले की खुदाई करने में लगे हुए थे। लेकिन नाले में मिली एक रहस्यमयी चीज जिसको सुनकर आप भी चौंक उठेगें। कहा जाता है यह अब तक की सबसे बड़ी खोज मानी जाती है। इसी प्राकार की खोजों से जाना जा सकता है हमारें पुराने समय में कितनी  अजीब-अजीब चीजें मौजूद थी कि जिसकी हम कल्पना भी नही कर सकते।

देखें वीडियो

The post 3 हजार सालों से नाले में छिपी थी ये बेशकीमती चीज, देखते ही हैरान हुए लोग…देखें Video appeared first on Chaska Times.

News Courtesy - Chaskatimes.com

3 हजार सालों से नाले में छिपी थी ये बेशकीमती चीज, देखते ही हैरान हुए लोग…देखें Video

in Delhi/dharm/India/instant/interesting/News/Politics/Video by

हमारे देश में जगह-जगह खोज अभियान चलते रहते है।क्योंकि कहा जाता है पहले हमारा देश सोने की चिड़िया था.पहले से हमारे भारत देश में राजाओं का शासन रहा है।जिसके कारण पहले सबसे धनवान देश था।17 शताब्दी के दौरान कहा जाता है यहां अनाज,कपड़ा गहना,हथियार मोती,मसाले आदि किसी भी चीज की कमी नही थी। पहले समय के लोग सोने तथा चांदी के सिक्कों का उपयोग करत थे। लेकिन जब हमारे देश को अग्रेजों ने घेर कर गुलाम बना लिया था।

17 शताब्दी के दौरान कहा जाता है यहां अनाज,कपड़ा गहना,हथियार मोती,मसाले आदि किसी भी चीज की कमी नही थी। पहले समय के लोग सोने तथा चांदी के सिक्कों का उपयोग करत थे।

लेकिन 1947 में उनसे आजादी मिलने के बाद सभी तरह के राजा महाराजाओं वाले शासन खत्म हो गए। कहा जाता है अग्रेज जब हमारे देश को छोड़ कर गये थे वह भारत की सारी कीमती चीजों को लुटकर गये थे। उस दौरान हमारा देश पूरी तरह से कंगाल हो गया था।

जिसके कारण वहां के लोग के लोग पिछले 4 साल से नाले की खुदाई करने में लगे हुए थे। लेकिन नाले में मिली एक रहस्यमयी चीज जिसको सुनकर आप भी चौंक उठेगें।

लेकिन बताया जा रहें है एक ऐसी ही कीमतों चीजों के बारें में जो कि आए दिन कही न कही खुदाई में निकलती रहती है। हम जो बात कर रहें है वह इजिप्ट में स्थित कैरो राजधानी का है। जिसमे बताया जा रहा है एक नाले की खुदाई के दौरान एक ऐसी चमकीली चीज निकली है जिसे देखकर वहां के लोग हैरान हो गये है। कहा जाता है वहां के आर्कियोलॉजिस्ट को ऐसा महसूस होता था कि वहा गहरे नाले में कुछ रहस्यमयी चीज मौजूद है।

 

एक ऐसी ही कीमतों चीजों के बारें में जो कि आए दिन कही न कही खुदाई में निकलती रहती है। हम जो बात कर रहें है वह इजिप्ट में स्थित कैरो राजधानी का है। जिसमे बताया जा रहा है एक नाले की खुदाई के दौरान एक ऐसी चमकीली चीज निकली है

जिसके कारण वहां के लोग के लोग पिछले 4 साल से नाले की खुदाई करने में लगे हुए थे। लेकिन नाले में मिली एक रहस्यमयी चीज जिसको सुनकर आप भी चौंक उठेगें। कहा जाता है यह अब तक की सबसे बड़ी खोज मानी जाती है। इसी प्राकार की खोजों से जाना जा सकता है हमारें पुराने समय में कितनी  अजीब-अजीब चीजें मौजूद थी कि जिसकी हम कल्पना भी नही कर सकते।

देखें वीडियो

The post 3 हजार सालों से नाले में छिपी थी ये बेशकीमती चीज, देखते ही हैरान हुए लोग…देखें Video appeared first on Chaska Times.

News Courtesy - Chaskatimes.com

अगर आप इन 10 नियमों को जानें बिना बैंक जा रहे हैं तो कर रहे हैं बड़ी भूल !

in bank/Delhi/Facts/India/Intresting/policies/Politics/resposibilities/true facts by

बैंक एक ऐसा शब्द है जिससे हर व्यक्ति का नाता है वो चाहे फिर किसी भी वर्ग का व्यक्ति क्यों न हो. बैंक अगर न होती तो न जानें दुनिया में लोगों का लेन देन कैसे हो पाता. बैंक ही है जो आपकी जमा पूँजी का हिसाब रखती है कि आपने कितना गवांया और कितना कमाया. हर तरह का व्यवसाय भी बैंक के अंतर्गत ही होता है ताकि कभी कोई दिक्कत न आये और सभी का डाटा बना रहे.

source

हालाँकि बैंकों से जुड़े काम इतने आसान भी नहीं होते कि हर कोई इन्हें समझ ले. अगर कोई इंसान ज्यादा पढ़ा लिखा नहीं है तो उसे बैंकों के काम समझने में थोड़ी दिक्कत हो सकती है. जैसे कि अगर किसी को लोन लेना हो या फिर बहुत ही शुरूआती काम करवाना हो जैसे कि बैंक में अपना अकाउंट खुलवाना ये ही बेहद कठिन होता है ना जानें कितने दिन बैंकों के दरवाज़ों तक भटकना पड़ता है और तब जाकर अकाउंट खुल पाता है.

source

कहीं न कहीं देखा गया है कि लोगों को अक्सर अपने अधिकारों की पूरी जानकारी नहीं होती है जिसकी वजह से सभी को इतनी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. इस तरह की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया द्वारा गठित बैंकिंग कोड्स एंड स्टैन्डर्ड्स बोर्ड ऑफ इंडिया (बीसीएसबीआई) ने बैंक ग्राहकों को बहुत सारे अधिकार दिए हैं. जिसे जानना आप सभी को बेहद ज़रूरी है.

source

पहला अधिकार यह है कि किसी भी कंपनी की बैंक केवल पर्मानेंट पते के सबूत पर ही किसी भी इलाके में रहने वाले भारतीय नागरिक का खाता खोलने की बात से इनकार नहीं कर सकती है, उन्हें हर किसी का खाता खोलना पड़ेगा.

source

दूसरा अधिकार यह है कि यदि बैंक और आपके बीच हुए समझौते या यूँ कहें खता खोलते वक्त आपकी और बैंक के बीच शर्त रही होगी उसमें अगर कोई बदलाव अगर होता है तो बैंक को ऐसा करने से पहले ही 30 दिन पहले आपको नोटिस भेजकर बदलावों की जानकारी देनी होगी.

source

तीसरा अधिकार यह है कि अगर कोई बैंक किसी को कोई सुविधा देने से इनकार करती है तो ग्राहक को उस इनकार की असली वजह जानने का पूरा अधिकार है.


चौथा अधिकार यह है कि बैंक ने खाता खोलते वक्त ग्राहक को जो भी अधिकार दिए थे उसे उन्हें पालन करना होगा और अगर किसी कस्टमर को कोई भी शिकायत है तो बैंक को ध्यान रखना होगा कि उसकी शिकायत का समाधान हो जल्दी से जल्दी हो.

source

पांचवा अधिकार यह है कि अगर किसी ग्राहक के खाते से कोई फालतू पैसा निकल जाता है या इधर से उधर हो जाता है तो उसके लिए ग्राहक को दोषी नहीं ठहरा जाएगा, बल्कि इस गलती को साबित करने की ज़िम्मेदारी बैंक की होगी.

छठवां अधिकार यह है कि यदि कोई भी ग्राहक किसी भी बैंक से नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड्स ट्रांसफर के जरिए 50,000 रुपए तक की रकम किसी दूसरे बैंक खाते में जमा करा सकता है और इसके लिए यह जरूरी नहीं है कि दूसरे खाते का खता धारक उसी बैंक का खता धारक हो.


सातवां अधिकार यह है कि बैंकों की यह जिम्मदारी है कि ग्राहकों की जो भी निजी जानकारी है उसे बैंक को गुप्त रखना होगा. बैंक को कोई भी अधिकार नहीं है कि आपकी बिना जानकारी के वो आपको निजी जानकारी किसी और को बताएं.

source

आठवां अधिकार यह है कि अगर किसी ग्राहक ने बैंक से लोन लिया है और उसकी सिक्योरिटी भी बैंक को दी है तो जैसे ही ग्राहक अपना पूरा पैसा चूका देता है तो यह बैंक की ज़िम्मेदारी है कि 15 दिन के भीतर ही ग्राहक को उसकी सिक्योरिटी वापस लौटा दी जानी चाहिए.

नवां अधिकार यह है कि अगर चेक कलेक्शन में बैंक की तरफ से निर्धारित समय से ज्यादा समय लग रहा है तो ग्राहंको को उस देरी का मुआवजा पाने का अधिकार है और आपको बता दें कि इस मुआवजे की रकम साधारण ब्याज दर के हिसाब से ही चुकाई जाएगी.

source

दसवां अधिकार यह है कि बैंक कभी भी किसी भी ग्राहक से उनके जाति, धर्म या लिंग के आधार पर भेदभाव नहीं कर सकता अगर कोई ऐसा करता भी है तो आप फ़ौरन उसके खिलाफ शिकायत दर्ज कर सकते हैं.

Loading…

Loading…

News Courtesy - Insistpost.com

Go to Top